मंगलवार, 21 जुलाई 2020

समोखन के चर्चे

समोखन के किस्से और कारनामे !!!




समोखन और बंता का बिजनेस!

समोखन और पप्पू  कोई बिजनेस शुरू करने कि सोच रहे थे बहुत चर्चा के बाद उन्होंने ये फैसला किया कि होटल का बिजनेस शुरू करते है!

उन्होंने होटल चलाने के लिए पहले एक अच्छी सी जगह देखी और फिर स्टाफ और अन्य सामग्री जो होटल के लिए आवश्यक होती है। 
सब का प्रबंध किया फिर होटल का उदघाटन किया और काम शुरू कर दिया वो ग्राहकों का इन्तजार करने लगे एक दिन दो दिन... लगातार ऐसे ही 7 दिन बीत गए पर उनके पास कोई ग्राहक नहीं आया... जानते है क्यों?

क्योंकि होटल के प्रवेशद्वार पर लिखा था 'आगंतुकों का' आना मना है (विजिटर्स नॉट अलाउड)!

होटल का बिजनेस असफल होने के बाद उन्होंने फिर नया बिजनेस शुरू किया ऑटो गैराज का!

उन्होंने गैराज को बहुत बढ़िया सजाया, गाड़ियों के स्पेयर पार्ट और दूसरे यंत्र एकत्रित कर, उन्होंने जल्दी ही गैराज का काम शुरू कर दिया वो चाहते थे कि उनके गैराज के बाहर बहुत सी गाड़ियाँ आये पर लगातार 7 दिन तक उनके गैराज में एक भी गाड़ी नहीं आयी... जानते है क्यों?

क्योंकि उनका गैराज बिल्डिंग की पहली मंजिल पर था!


हमने भी कहानी सुनी है!

एक टोपी बेचने वाला दरख्त के नीचे आराम कर रहा था की अचानक कुछ बंदर उसकी सारी टोपियाँ उठा कर ले गए!

इन्सान की नक़ल करते बंदर को ख्याल आया तो आदमी ने अपनी टोपी उतार के नीचे फेंकी तो बंदरो ने भी वैसा ही किया!

और आदमी अपनी टोपियाँ उठा के चला गया घर जाकर उसने ये वाकया अपने पोते को सुनाया!

इत्तिफाक से सालों बाद पोता भी टोपियाँ बेचते हुए उस दरख्त के नीचे आ बैठा और बंदर फिर टोपियाँ ले गए!

उसे अपने दादा की सुनाई हुई कहानी याद आई और उसने अपने सिर की टोपी उतार कर नीचे फ़ेंक दी!

एक बन्दर पेड़ से नीचे आया उसने टोपी को उठाया और आदमी को एक थप्पड़ मार कर बोला!

अबे तू क्या सोचता है क्या हमारा दादा हमको कहानी नही सुनाता होगा!


सिग्नल नहीं तोडूंगी!

एक अदालत में एक यातायात के नियम तोड़ने सम्बन्धी मामला दर्ज हुआ!

अपराधी महिला को कोर्ट के सामने पेश किया गया मामला यह था कि एक महिला ने रेड लाइट का सिग्नल तोड़ दिया था!

जब पूछताछ शुरू हुई तो महिला ने बताया कि जल्दी से इस मामले कि सुनवाई की जाए वह एक स्कूल टीचर है, और स्कूल के लिए देरी हो रही है!

जज की आँखों में एक अजीब सी चमक आ गयी!

जज ने कहा आप एक स्कूल टीचर हैं? मैडम मेरी कई सालों से एक बहुत दिली ख्वाहिश थी कि कोई टीचर किसी दिन यहाँ आये और मैं उसे कुछ काम दूँ!

चलिए अब नीचे बैठिये और 500 बार लिखिए कि मैं रेड लाइट का सिग्नल कभी नहीं तोडूंगी!

लात मारने का कानून!

एक बार समोखन शिकार करने चला गया उसने जाते ही एक कबूतर को मार दिया वह कबूतर जाकर एक खेत में गिरा, जब वह बाड़ा पार करके उस कबूतर के पास पहुंचा तभी एक किसान वहां आया और समोखन को पूछने लगा कि वह उसकी प्रोपर्टी में क्या कर रहा है?

समोखन ने कबूतर को दिखाते हुए कहा कि मैंने इस कबूतर को मारा और ये मर कर यहाँ गिर गया मैं इसे लेने आया हूँ!

किसान ने कहा ये कबूतर मेरा है क्योंकि ये मेरे खेत में पड़ा है!

समोखन ने कहा क्या तुम जानते हो तुम किससे बात कर रहे हो?

किसान ने जवाब दिया नहीं मैं नहीं जानता और मुझे इससे भी कुछ नहीं लेना है कि तुम कौन हो!

समोखन ने कहा मैं पटना  का एक बहुत मशहूर वकील हूँ, और अगर तुमने मुझे इस कबूतर को ले जाने से रोका तो मैं तुम पर ऐसा मुकदमा चलाऊंगा कि तुम्हें तुम्हारी जमीन जायदाद से बेदखल कर दूंगा और तुम्हें एक पल में रास्ते का भिखारी बना दूंगा!

किसान ने कहा हमारे जिले  मैं तो बस एक ही कानून चलता है लात मारने वाला!

समोखन ने कहा मैंने तो कभी इसके बारे में नहीं सुना!

किसान ने कहा मैं तुम्हें तीन लातें मारता हूँ अगर तुम वापिस उठकर तीन लातें मुझे मार पाओगे तो तुम इस कबूतर को ले जाना!

समोखन ने कहा ये ठीक है उसने उस किसान को देखा कि वह तो बिल्कुल कमजोर सा है तो इसकी लातों से उसे क्या फर्क पड़ने वाला ये सोचकर उसने कहा ठीक है मारो!

किसान ने बड़ी बेरहमी से समोखन को पहली लात टांगों के बीच में मारी जिससे समोखन मुहं के बल झुक गया!

किसान ने दूसरी लात समोखन के मुहं पर मारी जिसके पड़ते ही वह जमीन पर गिर गया!

तीसरी लात किसान ने समोखन की पसलियों पर मारी बड़ी देर बाद समोखन उठा और जब वह लात मारने के लायक हुआ तो समोखन ने कहा अब मेरी बारी है!

किसान ने कहा, चलो छोड़ो यार! ये कबूतर तुम ही रखो!
Previous Post
Next Post

0 Post a Comment/Comments:

If you have any dought. commment here